काले धन की समस्या और उसका उन्मूलन पर निबंध / essay on Black money in hindi

आपको अक्सर स्कूलों में निबंध लिखने को दिया जाता है। ऐसे में हम आपके लिए कई मुख्य विषयों पर निबंध लेकर आये हैं। हम अपनी वेबसाइट istudymaster.com के माध्यम से आपकी निबंध लेखन में सहायता करेंगे । दोस्तों निबंध लेखन की श्रृंखला में हमारे आज के निबन्ध का टॉपिक काले धन की समस्या और उसका उन्मूलन पर निबंध / essay on Black money in hindi है। आपको पसंद आये तो हमे कॉमेंट जरूर करें।

काले धन की समस्या और उसका उन्मूलन पर निबंध / essay on Black money in hindi

काले धन की समस्या और उसका उन्मूलन par nibandh,काले धन की समस्या और उसका उन्मूलन पर निबंध,काले धन की समस्या और उसका उन्मूलन pr nibandh hindi me,essay on Black money in hindi,Black money essay in hindi,काले धन की समस्या और उसका उन्मूलन पर निबंध / essay on Black money in hindi

रूपरेखा (1) प्रस्तावना, (2) काले धन का अर्थ, (3) काले धन का दुष्परिणाम, (4) सरकार का कर्त्तव्य, (5) समस्या का निदान, (6) उपसंहार।

प्रस्तावना- 

सरकार ने काले धन की समस्या पर टिप्पणी की थी— यह उस वस्तु के समान है, जो नैतिक, सामाजिक और न्यायिक सिद्धान्तों का हनन करती है। यह आर्थिक और सामाजिक व्यवस्था को छिन्न-भिन्न कर देती है। एकता को परे कर देती है और धन को दुष्टों तथा अनैतिक व्यक्तियों के हाथों में पहुँचाकर घृणित भ्रष्टाचार को जन्म देती है। आजकल इस काले धन की आँधी इतनी व्यापक हो गई है कि जिसकी लपेट में व्यापारी क्या समस्त सरकारी कार्यालय इसकी चपेट में आ गये हैं। इस आँधी को पूर्ण रूपेण रोका जाना चाहिए।

काले धन का अर्थ-

वास्तविक आय या धन को छिपाकर उसका अवास्तविक स्वरूप दिखाना ही काला धन कहलाता है। इस धन का वास्तविक उपयोग शानदार मकानों, होटल तथा सिनेमा बनाने, मूल्यवान मोटर और सोने,चाँदी, हीरे-जवाहरात तथा विलासी कार्यों के लिए होता है। बड़े-बड़े नेताओं की परम्परा है कि वे स्वार्थ सिद्धि के लिए इस काले धन का खुलकर प्रयोग करते हैं।

See also  राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी पर निबंध / essay on Mahatma Gandhi in hindi

काले धन का दुष्परिणाम—

मनुष्य इस काले धन के सिंचन मात्र से राष्ट्र वृक्ष की शाखाओं को सुखा देता है। शाखाओं को ही नहीं बल्कि वृक्ष को भी सुखा देता है। मध्यम वर्ग आजकल इसके प्रभाव से अत्यधिक दुःखी हो गया है। जब तक इस कालेधन के रोग का निदान नहीं किया जायेगा, तब तक राष्ट्र का सुस्वरूप दृष्टिगोचर नहीं हो सकता है। इनका परिणाम यह होता है कि व्यापारी वर्ग जमाखोरी में लगा हुआ है जिससे प्रत्येक वस्तु कम मात्रा में देखने को मिलती है। सर्वत्र महँगाई का बोलबाला है। मध्यम वर्ग इस महँगाई के कारण सुखी नहीं रह सकता।

सरकार का कर्तव्य –  

इस काले धन पर रोक तब ही लग सकती है जब सरकार पूर्णतः प्रयत्नशील हो तथा विदेशी वस्तुओं के प्रयोग तथा आयात पर पूर्ण अंकुश लगाया जाय। सरकार का प्रमुख कर्तव्य यह हो जाता है कि वह बढ़ती हुई महँगाई को रोके। यह महँगाई तभी रुक सकती है जबकि चोर-बाजारी पर रोक लगाई जाय। इस चोर-बाजारी का मुख्य कारण है -जमाखोरी ।

समस्या का निदान – 

इस समस्या का निदान तभी हो सकता है जब सरकार निम्नलिखित बातों का निवारण करे-

(1) नोटों के निर्गमन को नियन्त्रित किया जाय।

(2) आयकर में परिवर्तन किया जाय।

(3) कृषकों पर कर लगाया जाय।

(4) जमाखोरी को पकड़ा जाय तथा जमाखोरों को कठोर दण्ड दिया जाय।

(5) काले धन को श्वेत धन में बदलने का अवसर प्रदान किया जाय।

(6) अपव्यय के कार्यों पर रोक लगाई जाय।

(7) बड़ी-बड़ी कम्पनियाँ आय का निश्चित भाग जा करें।

उपसंहार-

वस्तुतः काले धन की समस्या का समाधान तभी सम्भव है, जब सरकार और जनता दोनों इसके लिए कटिबद्ध हों। कर प्रणाली में सुधार हो । तस्करी पर कड़ी रोक हो। करों में चोरी, मिलावट और चोर बाजारी करने के विरुद्ध सख्त और तुरन्त कार्यवाही हो । यदि यह सब नहीं किया गया तो काले घन की समस्या देश की अर्थव्यवस्था को चौपट कर देगी।

See also  बाल साहित्य पर निबंध / essay on Bal Sahitya in hindi

इन निबंधों के बारे में भी पढ़िए

                         ◆◆◆ निवेदन ◆◆◆

आपको यह निबंध कैसा लगा । क्या हमारे इस निबंध ने आपके निबंध लेखन में सहायता की हमें कॉमेंट करके जरूर बताएं । दोस्तों अगर आपको काले धन की समस्या और उसका उन्मूलन पर निबंध / essay on Black money in hindi अच्छा और उपयोगी लगा हो तो इसे अपने मित्रों के साथ जरूर शेयर करें।

tags – काले धन की समस्या और उसका उन्मूलन par nibandh,काले धन की समस्या और उसका उन्मूलन पर निबंध,काले धन की समस्या और उसका उन्मूलन pr nibandh hindi me,essay on Black money in hindi,Black money essay in hindi,काले धन की समस्या और उसका उन्मूलन पर निबंध / essay on Black money in hindi

Leave a Comment