पुस्तकालय से लाभ पर निबंध / essay on benefits of library in hindi

आपको अक्सर स्कूलों में निबंध लिखने को दिया जाता है। ऐसे में हम आपके लिए कई मुख्य विषयों पर निबंध लेकर आये हैं। हम अपनी वेबसाइट istudymaster.com के माध्यम से आपकी निबंध लेखन में सहायता करेंगे । दोस्तों निबंध लेखन की श्रृंखला में हमारे आज के निबन्ध का टॉपिक पुस्तकालय से लाभ पर निबंध / essay on benefits of library in hindi है। आपको पसंद आये तो हमे कॉमेंट जरूर करें।

पुस्तकालय से लाभ पर निबंध / essay on benefits of library in hindi

पुस्तकालय से लाभ par nibandh,पुस्तकालय से लाभ पर निबंध,पुस्तकालय से लाभ pr nibandh hindi me,essay on benefits of library in hindi,benefits of library essay in hindi,पुस्तकालय से लाभ पर निबंध / essay on benefits of library in hindi

रूपरेखा (1) प्रस्तावना, (2) पुस्तकालय का अर्थ और प्रकार, (3) पुस्तकालय से लाभ, (4) विद्यालयों के लिए पुस्तकालय का महत्त्व, (5) उपसंहार।

प्रस्तावना – 

प्राचीनकाल से ही मनुष्य ज्ञान की खोज में लगा रहा है। उसने अपने अनुभवों से जो कुछ ज्ञान प्राप्त किया, उसे पुस्तकों के रूप में सुरक्षित कर दिया। इससे आने वाली पीढ़िया लाभ उठा सकेगी। ज्ञान के असीम भण्डार के दर्शन हमें पुस्तकालयों में होते हैं। ये ऐसे सरोवर है जो हमारे ज्ञान की प्यास को शान्त करते हैं।

पुस्तकालय का अर्थ और प्रकार—

पुस्तकालय शब्द का अर्थ है—पुस्तकों का घर। जिस स्थान पर विभिन्न प्रकार की पुस्तकों का संग्रह किया गया हो उसे पुस्तकालय कहते हैं। प्रत्येक व्यक्ति पुस्तकालय पहुंचकर अपनी आवश्यकता की पुस्तक पढ़ सकता है तथा अपने प्रश्नों और समस्याओं का हल खोज सकता । वर्तमान समय में पुस्तकालयों का बहुत विकास हुआ है। आजकल अनेक प्रकार के पुस्तकालय देखने में आते हैं। कोई व्यक्ति जब अनेक पुस्तकें एकत्र करके अपना पुस्तकालय बनाता है, तो उसे निजी पुस्तकालय कहा जाता है। प्रत्येक विद्यालय में पुस्तकालय होता है। इस पुस्तकालय से उसी विद्यालय के छात्र और शिक्षक लाभ उठाते हैं। कुछ सार्वजनिक पुस्तकालय होते हैं, जिनका प्रबन्ध नगर निगम, विभिन्न ट्रस्ट तथा साहित्यिक संस्थाएँ करती हैं।

See also  नेताजी सुभाषचन्द्र बोस पर निबंध / essay on Netaji Subhash Chandra Bose in hindi

इन पुस्तकालयों का हर व्यक्ति सदस्य बन सकता है। आजकल बड़े-बड़े नगरों में चलते-फिरते पुस्तकालयों की भी व्यवस्था हो गयी है। पुस्तकालय का ही एक अंग वाचनालय होता है। यहाँ बैठकर लोग समाचार-पत्र तथा अन्य पत्र-पत्रिकाएँ पढ़ते हैं। लाभ-पुस्तकालयों में किसी समाज और राष्ट्र के ज्ञान का भण्डार सुरक्षित रहता है। इससे अनेक लाभ हैं। हर व्यक्ति सब पुस्तकें खरीदकर नहीं पढ़ सकता है। पुस्तकालयों में बहुमूल्य पुस्तकें पढ़ने को मिल सकती हैं। पुस्तकालय ज्ञान की वृद्धि करते हैं। वैज्ञानिक, विचारक तथा लेखक इनसे लाभ उठाते हैं और नयी खोजें करके ज्ञान के प्रसार में योगदान करते हैं। पुस्तकालयों से नाटक, कहानी, उपन्यास, कविता आदि पढ़कर हम अपना बौद्धिक मनोरंजन करते हैं। समय के सदुपयोग का श्रेष्ठ साधन ये पुस्तकालय ही हैं।

ज्ञान अर्जन के लिए लोग पुस्तकालयों में बैठकर अच्छी पुस्तकें पढ़कर जीवन का निर्माण करते हैं। पुस्तकालयों में हमारा विद्वानों से सम्पर्क होता है। तुलसी, सूर, राम,कृष्ण, गाँधी आदि के विचारों को पढ़कर हम उनसे अच्छे-अच्छे विचार और शिक्षा ग्रहण कर सकते हैं। इस प्रकार पुस्तकालय सम्पूर्ण समाज को उन्नति के पथ पर ले जाने में सहायक होते हैं। किसी भी देशवासी को अपने इतिहास, कला, धर्म, संस्कृति और सभ्यता का परिचय पुस्तकालयों के ग्रन्थों से ही मिलता है। विद्यालयों के लिए पुस्तकालय का महत्त्व-विद्यालयों में शिक्षण-सुविधा के लिए अच्छे पुस्तकालयों की व्यवस्था होना अति आवश्यक है। बहुत अच्छा विषय-पुस्तकालयों का हो यदि विद्यालयों में केन्द्रीय पुस्तकालयों के अतिरिक्त पुस्तकालयों तथा कक्षा- प्रबन्ध किया जाये। शिक्षकों के सहयोग से इस प्रकार के पुस्तकालय छात्रों के लिए अत्यन्त लाभप्रद सिद्ध हो सकते हैं।

See also  राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी पर निबंध / essay on Shri Pranab Mukherjee in hindi

उपसंहार—

शारीरिक स्वास्थ्य के लिए जिस प्रकार मनुष्य को संयमित तथा सन्तुलित भोजन मिलना आवश्यक है। उसी प्रकार मानसिक स्वास्थ्य के लिए ज्ञानार्जन परमावश्यक है। यह ज्ञान हमें अज्ञानान्धकार से निकालकर ज्ञान के प्रकाशपूर्ण लोक में ले जाता है। ज्ञान की अधिष्ठात्री देवी सरस्वती की विधिवत् उपासना के दो ही मन्दिर हैं-विद्यालय और पुस्तकालय। वर्तमान काल में हमारे पुस्तकालयों की दशा अत्यन्त शोचनीय है। हमारा यह कर्त्तव्य है कि हम अच्छे ये पुस्तकालयों के निर्माण में अपना भरपूर सहयोग दें। ये पुस्तकालय ही अज्ञान के अन्धकार में भटकती मानवता को ज्ञान के प्रकाश की ओर ले जायेंगे।

👉 इन निबंधों के बारे में भी पढ़िए

                         ◆◆◆ निवेदन ◆◆◆

आपको यह निबंध कैसा लगा । क्या हमारे इस निबंध ने आपके निबंध लेखन में सहायता की हमें कॉमेंट करके जरूर बताएं । दोस्तों अगर आपको पुस्तकालय से लाभ पर निबंध / essay on benefits of library in hindi अच्छा और उपयोगी लगा हो तो इसे अपने मित्रों के साथ जरूर शेयर करें।

tags -पुस्तकालय से लाभ par nibandh,पुस्तकालय से लाभ पर निबंध,पुस्तकालय से लाभ pr nibandh hindi me,essay on benefits of library in hindi,benefits of library essay in hindi,पुस्तकालय से लाभ पर निबंध / essay on benefits of library in hindi

Leave a Comment